0

आखिर कह ही डाला ….

आखिर कह ही डाला उसने एक दिन, 

इस कद्र टूटे हो बिखर क्यों नहीं जाते…..!

कब तक जिओगे ये दर्द भरी जिंदगी, 

किसी रात खामोशी से मर क्यों नहीं जाते…..!! 

 

Aakhir kaha hi dala usne ek din,

Is kadr tute ho bikhar kyo nahi jate…..!

Kab tak jiooge ye dard bahri jindagi,

Kisi raat khamoshi se mar kyo nahi jate……!!  

 

0

ना लेकर आना उसे….

ना लेकर आना उसे मेरे जनाजे में,

मेरी मोहब्बत की तोहीं होगी,

मै चार लोगो के कंधो पर रहूंगी,

और मेरी जान पैदल होगी…..!!

 

Na lekar aane use mere janaje me,

Meri mohabbat ki tohin hogi,

Me chhar logo ke kandho par rahungi,

Or meri jaan pedal hogi…..!!

0

किसी को मोहब्बत की सच्चाई मार डालेगी…

किसी को मोहब्बत की सच्चाई मार डालेगी,

किसी को मोहब्बत की गहराई मार डालेगी,

कर के मोहब्बत कोई नही बचेगा,

जो बच गया उसे तन्हाई मार डालेगी…।।