0

आँसुओं से जिनकी….

आँसुओं से जिनकी आँखें नम नहीं, 

क्या समझते हो कि उन्हें कोई गम नहीं? 

तड़प कर रो दिए गर तुम तो क्या हुआ,

गम छुपा कर हँसने वाले भी कम नहीं…..।।

 

Aansuo se jinki aakhe nam nahi, 

Kya samjhte ho ki unhe koi gam nahi?

Tadap kar ro diye gar tum to kya hua, 

Gam chupa kar hanse wale bhi kam nahi…..।। 

0

आज अजीब किस्सा देखा…..

आज अजीब किस्सा देखा, 

हमने खुदखुशी का….!

एक शख्स ने जिंदगी से तंग आकर, 

मोहब्बत कर ली….!!  

 

Aaj ajib kissa dekha, 

Hame khudkhushi ka….! 

Ek shaksh ne jindagi se tang aakar, 

Mohbbat kar li….!!

 

 

0

काश वो भी आकर…..

काश वो भी आकर हम से कह दे…..!

मैं भी तन्हा हूँ तेरे बिन, तेरी तरह, तेरी कसम, तेरे लिए…..!!

 

Kash vo bhi aakar ham se kah de….!

Me bhi tanha hu tere bin, teri tarah, teri kasam, tere liye…..!!

0

बड़े शौक से बनाया….

बड़े शौक से बनाया तुमने मेरे दिल में अपना घर,

जब रहने की बारी आई तो तुमने ठिकाना बदल लिया….!!

 

Bade shouk se banaya tumne mere dil me apna ghar,

Jab rahne ki bari aai to tumne thikana badal liya…..!!