0

कोई फर्क नही पड़ता….

कोई फर्क नही पड़ता कि तुमने किसे चाहा और कितना चाहा…..!

हमें तो ये पता है कि हमने तुम्हें चाहा और हद से ज्यादा चाहा…..!! 

 

Koi fark nahi padta ki tumne kise chaha or kitna chaha….!

Hame to ye pata he ki hamne tumhe chaha or had se jayada chaha….!! 

0

सपनों की दुनिया में….

सपनों की दुनिया में हम खोते चले गए, 

मदहोश न थे पर मदहोश होते चले गए, 

ना जाने क्या बात थी उस चेहरे में, 

ना चाहते हुए भी उसके होते चले गए……।।

 

Sapno ki duniya me ham khote chale gaye, 

Madhosh n the par madhosh hote chale gaye, 

Na jane kya baat thi us chehre me, 

Na chahte hue bhi uske hote chale gaye….।।

0

तेरे हर गम को…..

तेरे हर गम को अपनी रूह में उतार लूँ,

ज़िन्दगी अपनी तेरी चाहत में संवार लूँ,

मुलाकात हो तुझसे कुछ इस तरह मेरी,

सारी उम्र बस एक मुलाकात में गुज़ार लूँ।

 

Tre har gam ko apni ruh me utar lu,

Jindagi apni teri chahat me sanwar lu,

Mulakat ho tujhse kuch is tarah meri,

Sari umar bas ek mulakat me gujar lu…..!!

0

मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर….

मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में भी तेरा नाम सुन कर,

तेरे नाम से इतनी मोहब्बत है तो सोच तुझसे कितनी होगी….!!

 

Muskura jata hu aaksar gusse me bhi tera naam sun kar, 

Tere naam se itani mohabbat he to soch tujhse kitni hogi….!!

0

जब ख्याल आया तो …..

जब ख्याल आया तो ख्याल, 

भी उनका आया, 

जब आँखे बंद की तो ख्वाब, 

भी उनका आया,

सोचा याद कर लु किसी और को, 

मगर होठ खुले तो नाम भी उनका आया……!!    

 

Jab khayal aaya to kahayl,

Bhi unka aaya,

Jab aankhe band ki to khawab, 

Bhi unka aaya, 

Socha yaad kar lu kisi or ko, 

Magar hoth khule to naam bhi unka aaya……!!