0

तू गलती से भी…

तू गलती से भी कन्धा मत न देना

मेरे जनाजे को ए दोस्त….!

कहीं फिर जिन्दा ना हो जाऊ 

तेरा सहारा देख कर….!!  

Leave a Reply