0

नीद से क्या शिकवा…..

नीद से क्या शिकवा जो आती नहीं रात भर,

कसूर तो उस चेहरे का है जो सोने नहीं देता…..!!

 

Nind se kya shikava jo aati nahi raat bhar,

Kasur to us chehre ka he jo sone nahi deta……!!

Leave a Reply